ग्रैमी में बजा भारत का डंका

भारतीय मूल के दो गायकों रिक्की केज और नीला वासवानी को रविवार की शाम को ग्रैमी अवार्ड से नवाज़ा गया |

वासवानी जो की न्यू यॉर्क की निवासी है उन्होंने सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार की श्रेणी में ग्रैमी मिला |

Ricky Kej grammy

वासवानी ने पाकिस्तानी नोबेल पुरस्कार विजेता युसुफजई की किताब “ आई एम् मलाला” का ऑडियो रूपांतरण कर ये पुरस्कार जीता |

ये एक बहादुर किशोरी की कहानी है जिसने स्कूल जाने के अपने अधिकार को पाने के लिए अपनी जान खतरे में डाल दी |

कहानी आतंक से बदल रही दुनिया में, दैनिक चुनौतियों का सामना करने वाली मलाल से सम्बंधित है |

दूसरी और बंगलौर में रहने वाले केज की एल्बम “विंड्स ऑफ़ समसारा” ने बेस्ट न्यू ऐज एल्बम का खिताब जीता |

“विंड्स ऑफ़ समसारा” जो अमन और शांति का प्रतीक है के लिए केज ने दक्षिण अफ्रीकी संगीतकार

वोउटर केल्लेर्मन के साथ काम किया |

ग्रैमी में बजा भारत का डंका

इस एल्बम का वेबसाइट पर विवरण “ एक सच्चा वैश्विक प्रयास” के तौर पर दिया गया है, जो की दो संस्कृतियों से प्रेरित है |

इस साल स्वर्गीय सितार वादक रवि शंकर की पुत्री अनुष्का शंकर ग्रैमी से चूक गयीं | वो अपनी एल्बम

“ट्रेसेस ऑफ़ यू” के लिए बेस्ट वर्ल्ड म्यूजिक एल्बम की श्रेणी में नामज़द थी |

एंजेलीक किद्जो की एल्बम “ईव” को यह पुरस्कर मिला |

ग्रैमी पुरुस्कार में इस वर्ष सैम स्मिथ और फरेल विलिअम्स का वर्चस्व दिखा और कई प्रख्यात नामो

द्वारा बेहतरीन पेर्फोर्मंसस हुई जिन्होंने इस रात में चार चाँद लगा दिए

About the Author

Leave A Response